सुनील छेत्री ने कहा, एशियन कप में भारत को हराना आसान नहीं होगा…

0
328

जनवरी की 14 जनवरी से आस्ट्रेलिया के मेलबर्न शहर में होने वाले टेनिस के ग्रैण्ड स्लैम टूर्नामेंट आस्ट्रेलियन ओपेन(Australia open tennis tournament) में भागीदारी करने के लिए लखनऊ के नमन मेहता रवाना हो गए हैं। बुधवार को दिल्ली से उन्होंने उड़ान भरी। नमन देश के उन दस खुशनसीब खिलाड़ियों में एक हैं जो आस्ट्रेलियन ओपेन में बाल किड्स के रूप में चुने गए हैं। एओ बाल किड्स प्रोग्राम के तहत चुने गए इन बच्चों को कंपनी अपने खर्च पर मेलबर्न ले जा रही है।

नमन के पिता एसके मेहता महाराष्ट्र में कस्टम विभाग में सुपरिटेंडेंट हैं। नमन को शुभकामनाओं के साथ विदा करने के बाद रात को वह लखनऊ पहुंचे। उन्होंने बताया कि साल के पहले टेनिस ग्रैण्ड स्लैन टूर्नामेंट आस्ट्रेलियन ओपेन में दुनिया के धुरंधर टेनिस खिलाड़ी अपना जलवा बिखरेंगे। इसमें भले ही राजधानी का कोई खिलाड़ी खेलता न नजर आए। नमन एक अलग भूमिका में नजर आएगा।

सुनील छेत्री ने कहा, एशियन कप में भारत को हराना आसान नहीं होगा

नमन मेहता ला मार्टिनियर कॉलेज में कक्षा आठ की पढ़ाई कर रहे हैं। वह पिछले तीन-चार साल से विजयंत खण्ड गोमतीनगर में विजय पाठक की देखरेख में ट्रेनिंग कर रहे हैं। नमन को बचपन से ही टेनिस का शौक है। वह कई टूर्नामेंट में खेल चुका है। नमन ने दिल्ली रवाना होने से पहले बताया कि वह मेलबर्न जाने से बेहद खुश हैं। उन्होंने बताया कि उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि वह आस्ट्रेलियन ओपेन का हिस्सा बनेंगे। उन्हें इस बात की खुशी है वह अपने चहते टेनिस स्टारों को अपनी आंखों से खेलते देख सकेंगे। उन्होंने बताया कि टेनिस के महान खिलाड़ी जान मैकेनरो, रोजर फेडरर, महेश भूपति भी बॉल ब्वायज के रूप में ग्रैण्ड स्लैम टूर्नामेंट में हिस्सा ले चुके हैं।

इस प्रोग्राम में हिस्सा लेने के लिए देश भर के करीब 100 बालक व बालिकाएं चुने गए। अंतिम चयन में दस बच्चों का चयन किया गया। इसमें चार लड़कियां और छह लड़के शामिल हैं। मेलबर्न जाने से पहले कई ग्रैंड स्लैम खिताब जीत चुके भारत की डेविस कप टीम के कप्तान और दिग्गज टेनिस स्टार महेश भूपति इन बच्चों को प्रशिक्षण देंगे। भूपति की देखरेख में ही इन बच्चों का चयन किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here