बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन के कारण भारत को पर्थ स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के पांचवें और आखिरी दिन

0
274

बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन के कारण भारत को पर्थ स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के पांचवें और आखिरी दिन मेजबान आस्ट्रेलिया के हाथों 146 रन से करारी हार का सामना करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया की इस वर्ष मार्च में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर डरबन में मिली 118 रन की जीत के बाद से टेस्ट में यह पहली जीत है। वहीं, बतौर कप्तान टिम पेन की यह पहली जीत है। इस जीत के साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-1 से बराबरी हासिल कर ली है। भारत ने पहला टेस्ट 31 रन से जीता था। इस मैच में जमकर स्लेजिंग का दौर चला।

एडिलेड टेस्ट के बाद पर्थ टेस्ट में भी दोनों टीमों के बीच जमकर स्लेजिंग देखने को मिली। मामला टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के ‘विवादित’ कैच के बाद ज्यादा बिगड़ गया। विराट कोहली के विकेट के बाद उनके और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन के बीच शाब्दिक जंग देखने को मिली। अंपायर क्रिस गफाने और कुमार धर्मसेना ने दोनों कप्तानों को इसके लिए समझाया भी।

विराट कोहली से उलझने के बाद भारत की दूसरी पारी में जब मुरली विजय बल्लेबाजी कर रहे थे तो टिम पेन मुरली विजय को भी उकसाते हुए दिखाई दिेए। पेन ने भारतीय बल्लेबाज मुरली विजय से कहा कि कोहली को एक इंसान के तौर पर पसंद नहीं किया जा सकता।

मुरली विजय जब बल्लेबाजी कर रहे थे जब पेन ने कहा, ‘मैं जानता हूं कि वह तुम्हारे कप्तान हैं, लेकिन एक इंसान के तौर पर उसे पसंद नहीं किया जा सकता।’ टिम पेन की यह बात स्टंप्स में लगे माइक में कैद हुई।

बता दें कि इस विवाद की शुरुआत उस समय हुई जब टिम पेन ने कोहली से कहा था, मैच तो तुम लोग कल ही हार गए थे अब तो तुम लोग केवल कूल करने की कोशिश कर रहे हो। अंपायर ने टिम पेन को रोकने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने कहा, हमें बात करने की छूट होनी चाहिए। अंपायर ने विराट और पेन को चेतावनी देते हुए कहा था, तुम लोग मैच खेलो, आप दोनों टीम के कप्तान हैं।’ फिर भी पेन ने कहा, अपनी कूलनेस बनाए रखो विराट। विराट ने इस पर एक स्माइल पास की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here