गले लगाने के लिए तरस रही…

0
68

आगरा | आगरा में 1 महिला 4 माह से नवजात बच्चे को गले लगाने के लिए तरस रही है। पीड़िता की गुहार पर SSP पुलिस को जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए। पीड़िता का आरोप है कि ससुराल में पहले दहेज के लिए प्रताड़ित किया गया। फिर जेठ से संबंध न बनाने पर घर से निकाल दिया गया है। 6 माह का मासूम बेटा भी छीन लिया गया है। महिला ने SSP के सामने फूट-फूट कर अपनी दास्तान सुनाई। जानकारी के अनुसार, टेढ़ी बगिया निवासी महिला का निकाह 27 जनवरी 2019 को मथुरा के राया निवासी शुकीन पुत्र साबुद्दीन के साथ हुआ था। पीड़िता का आरोप है कि पति अप्राकृतिक संबंध बनाने का शौकीन है और कोई काम धंधा नहीं करता है। घर पर खाली रहने के दौरान जबरन उसके साथ हैवानियत करता था। ससुरालीजन लगातार 50 हजार रुपए घर से लाने का दबाव बना रहे थे। इस बीच 22 जून को उसने एक पुत्र ईशान को जन्म दिया। पीड़िता का आरोप है कि 9 अगस्त को जेठ कमरे में घुस आया और उसके साथ जबरदस्ती का प्रयास किया। विरोध पर उसने लालच दिया की उसकी बात मान लेने पर उसे घर में कोई प्रताड़ित नहीं किया करेगा। मेरे न मानने और शोर मचाने पर ससुरालीजनों ने आकर मुझ पर आरोप लगाना शुरू कर दिया। मुझे घर से निकाल दिया। इसके बाद जब भाई और पिता बात करने पहुंचे तो उन्हें भी पीटा गया। पीड़िता के अनुसार ससुराल में एक बहु की हत्या हो चुकी है और पति उसी बात को बताकर जान से मारने की धमकी दी है। दुधमुंहा बच्चा वापस नहीं दे रहे हैं और खुद घर आकर सारी शर्ते मान कर रहने का दबाव बनाया जा रहा है। SSP सुधीर कुमार ने पीड़िता की शिकायत को सुनकर पुलिस को जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।