घोड़ी पर चढ़ने को लेकर विवाद..

0
65

बनासकांठा | गुजरात के बनासकांठा जिले में एक दलित दूल्हे के घोड़ी पर चढ़ने को लेकर विवाद गरमा गया है। मोटा गांव में मंगलवार को दलित दूल्हे के घोड़ी पर चढ़ने और बारातियों के पगड़ी बांधने के बाद गांव में रहने वाले कुछ ऊंची जाति के लोगों की तरफ से पथराव कर दिया गया। मामला बिगड़ने पर गांव में चुस्त पुलिस बंदोबस्त तैनात कर दिया गया है। वहीं, पीड़ित पक्ष द्वारा इस मामले में गांव के सरपंच सहित 28 लोगों के खिलाफ एट्रोसिटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करवाया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। परिवार से मिली जानकारी के मुताबिक गांव के उच्च जाति के कुछ लोगों ने पहले ही धमकी दे दी थी कि दूल्हा घोड़ी पर बैठकर बारात नहीं निकालेगा। इसके अलावा बारात में कोई भी बाराती पगड़ी भी नहीं पहनेगा। वहीं, जब गांव वालों ने दूल्हे को घोड़े पर और बारातियों को पगड़ी बांधे देखा तो वे भड़क गए और पथराव कर दिया। पथराव में एक बाराती घायल हो गया है। परिवार को हमले का अंदाजा पहले से ही था। इसीलिए ली थी पुलिस की मदद। दूल्हे के परिवार का कहना है कि हमें इसका अंदाजा पहले से ही था कि गांव के ऊंची जाति के लोग कभी नहीं चाहेंगे कि उनका बेटा घोड़ी पर बैठे या फिर बारात में शामिल लोग पगड़ी बांधे। इसी के चलते हमने दो दिन पहले ही पुलिस से सुरक्षा की मांग की थी। हमें सुरक्षा मिल भी गई थी, लेकिन गांव वाले पुलिस सुरक्षा के बीच भी पथराव करने से बाज नहीं आए। जाति को लेकर बवाल मचा रहे लोगों के लिए शर्मनाक बात यह भी हो सकती है कि पीड़ित दूल्हे का भाई सुरेश शेखालिया सेना में रहकर देश सेवा कर रहा है। बनासकांठा के डिप्टी एसपी कौशल ओझा ने जानकारी दी कि पुलिस ने 28 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।