आपका पेट भी फूलता है?…

0
104

पीरियड्स की बात: पीरियड्स में महिलाओं को बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस समय ब्लोटिंग यानी पेट फूलने की समस्या भी काफी आम हैं। जहां कुछ लोगों के ये माहवारी के दौरान होता है, वहीं कुछ को पीरियड्स आने के कुछ दिन पहले ही ये परेशानी होने लगती है। अगर आप भी पीरियड ब्लोटिंग के कारण असहज महसूस करती हैं तो कुछ घरेलू नुस्खे आपको इससे राहत दिला सकते हैं। क्यों होती है पीरियड ब्लोटिंग? विशेषज्ञों का मानना है कि पीरियड ब्लोटिंग माहवारी के दौरान होने वाले हॉरमोनल बदलाव के कारण होती है। ब्लीडिंग शुरू होने से पहले शरीर में एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन हॉरमोन्स की मात्रा में बदलाव आता है। माहवारी के एक हफ्ते पहले से ही प्रोजेस्टेरोन हॉरमोन का स्तर कम हो जाता है। इससे यूट्र्स की परतें फैलती हैं ताकि ब्लीडिंग हो सके। इन बदलावों के चलते पेट की आंतों का काम धीमा हो जाता है, जिसके कारण यहां पानी और नमक जमा होने लगता है। इसे अंग्रेजी में वॉटर रिटेंशन कहते हैं। पेट फूलने की यही मुख्य वजह है। इसके अलावा आंतों में सिकुड़न आना भी ब्लोटिंग का एक कारण है। पीरियड ब्लोटिंग से बचने के घरेलू उपाय वैसे तो माहवारी खत्म होने पर पेट फूलने की परेशानी भी खत्म हो जाती है, लेकिन ज्यादा प्रॉब्लम होने पर ये टिप्स आपको तुरंत आराम दे सकती हैं.. नींबू पानी: पीरियड्स के दौरान नींबू पानी आपको पेट फूलने की समस्या से निजात दिला सकता है। इसमें साइट्रिक एसिड की मात्रा ज्यादा होती है, जो पेट की परेशानियों को कंट्रोल रखने में मदद करता है। नींबू के रस को हल्के गरम पानी में मिलाकर पीएं। नारियल पानी: नारियल पानी गैस की समस्या को दूर रखता है। साथ ही इसमें कई तरह के विटामिन और मिनरल होते हैं। अजवाइन का पानी: एक ग्लास पाने में एक चम्मच अजवाइन, चुटकी भर हींग और नमक मिलाएं। अब इस पानी को उबालकर छान लें और इसका सेवन करें। जीरा और काला नमक: काला नमक और भुने जीरा पाउडर को हल्के गरम पानी के साथ लेने से ब्लोटिंग में आराम मिलता है। एलोवेरा जूस: एलोवेरा जूस पेट में मौजूद बैक्टीरिया से छुटकारा दिलाने में मददगार है। इससे ब्लोटिंग भी कम होती है। इसका जूस दिन में 2 से 3 बार पिया जा सकता है। एक्सरसाइज करें: माहवारी में व्यायाम करना मुश्किल होता है, लेकिन आप हल्की-फुल्की एक्सरसाइज या योगा कर सकती हैं। चलने-फिरने से भी ब्लोटिंग कम होती है।
इन ड्रिंक्स से बचें: चाय, कॉफी, सोडा और कार्बोनेटेड ड्रिंक्स पीने से बचें। ये पेट में गैस बना सकते हैं, जिनके कारण पेट फूल सकता है।
(Disclaimer: यह लेख केवल सामान्य जानकारी हेतु है। इलाज/बचाव के उपाय अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें।)