बारिश के आसार……….

0
220

रांची – 21 फरवरी को महाशिवरात्रि है। इस दिन बारिश के आसार भी हैं। इस बार बारिश से महाकाल का अभिषेक इंद्रदेव कर सकते हैं। संयोग ऐसा बना है कि 20 से 23 फरवरी तक झारखंड में बारिश के आसार बन रहे हैं। 19 फरवरी से पाकिस्तान से पश्चिमी विक्षोभ का असर भारत के पंजाब में हाेगा। हवाएं दिल्ली की ओर मूव करेंगी। उसके बाद यूपी होते पश्चिमी विक्षोभ की हवाएं बिहार आएंगी। वहीं, बंगाल की खाड़ी में एंटी साइक्लोनिक सर्कुलेशन बना हुआ है। इसके असर से झारखंड में साउथ वेर्स्टली और नॉथ वेस्ट्रली की मिक्स हवा बादल बनाएगी। इससे बारिश होने के अासार बन रहे हैं। मौसम एक्सपर्ट का कहना है कि लाइट रेनिंग होने की संभावना है। मौसम वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया है कि बादल छाने से तापमान बढ़ेंगे। रांची का अधिकतम 27.6 डिग्री व न्यूनतम 10.1 डिग्री, जमशेदपुर का अधिकतम 30.6 व न्यूनतम 12.8 डिग्री, डालटनगंज का अधिकतम 29.4 डिग्री व न्यूनतम 10.9 डिग्री और कांके का अधिकतम 24.9 व न्यूनतम 8.5 डिग्री रिकाॅर्ड दर्ज किया गया। माैसम केंद्र के अनुसार, 22 और 23 फरवरी काे झारखंड के उत्तरी हिस्से में बारिश की संभावना है। एक-दाे स्थानाें पर हल्की व मध्यम दर्जें की बारिश हाेने की संभावना जताई गई है। 18 और 19 फरवरी काे आसमान साफ रहेगा। अधिकतम तापमान 28 डिग्री व न्यूनतम 13 तापमान रहने की संभावना है। विभाग की ओर से बताया गया कि 20 और 21 फरवरी काे अधिकतम 28-29 और न्यूनतम 14 से 15 डिग्री रहने की संभावना है। इधर, महाशिवरात्री को लेकर पहाड़ी मंदिर में आने वाले शिव भक्तों को इस बार पानी की रिमझिम-रिमझिम फुहार तरोताजा करेगी। क्योंकि, महाड़ी मंदिर विकास समिति ने भक्तों के लिए आर्टिफिशियल फाउंटेन लगाने का निर्णय लिया है। अरघा सिस्टम से ही श्रद्धालु बाबा भोलेनाथ को जलाभिषेक करेंगे। यह निर्णय सोमवार को समिति के सचिव सह एसडीओ लोकेश मिश्रा की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया। बैठक में समिति के कोषाध्यक्ष अभिषेक आनन्द, सदस्य आनंद गाड़ोदिया, जयसिंह यादव मौजूद थे। मंदिर परिसर में डॉक्टर भी उपस्थित रहेंगे। ताकि, आपात स्थिति में प्राथमिक इलाज हो सके। अगर किसी श्रद्धालु को हॉस्पिटल ले जाने की जरूरत पड़ी तो दो स्ट्रेचर और एक एंबुलेंस की व्यवस्था रहेगी। महाशिवरात्रि को लेकर मंदिर परिसर और आने वाले सभी रास्तों में महिला पुलिस बल पर्याप्त संख्या में तैनात रहेंगी। 100 शिवभक्तों और नारी सेना सहयोग करेंगे। वॉकी-टॉकी की व्यवस्था भी समिति की ओर से की जाएगी।