गंभीर रूप से जख्मी हो गए…….

0
205

नई दिल्ली – आनंदमयी मार्ग, ओखला मंडी में आढ़तियों से फिरौती मांगने जा रहे दो कुख्यात बदमाशों के पुल प्रह्लादपुर इलाके में आने की स्पेशल सेल को जानकारी मिली थी, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें तुगलकाबाद किले के पास सवा पांच बजे पल्सर बाइक पर आते देख सरेंडर करने की हिदायत दी। बदमाशों ने खुद के पकड़े जाने और फंसने के डर से पिस्टल निकाल पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी सेल्फ डिफेन्स में गोलियां चलाईं। पुलिस सूत्रों का कहना है कि दोनों ओर से लगभग तीस राउंड फायरिंग हुई। जिस वजह से पुलिस की जिप्सी से लेकर बुलेट प्रूफ जैकेट पहने पुलिसकर्मियों को गोली लगी। हालांकि, इस घटना में कोई पुलिसकर्मी जख्मी नहीं हुआ। पुलिस की फायरिंग में दोनों बदमाश गोली लगने से गंभीर रूप से जख्मी हो गए। बिना देरी किए पुलिस ने इन दोनों को अचेत हालत में एम्स ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए एम्स अस्पताल की मार्चरी में रखवा दिया। पुलिस को इनके पास से चोरी की बाइक भी मिली है। पुलिस के शूटआउट में दोनों बदमाशों के सीने और पैरों में गोली लगी थी। पुलिस अधिकारी ने बताया ये दोनों ही बदमाश काफी खूंखार हैं। जो किसी के ऊपर भी गोली चलाने, हत्या करने या लूटपाट करने से भी नहीं डरते। 12 फरवरी को ही रमेश, राजा और इनके साथियों ने प्रेम नगर करावल नगर में प्रॉपर्टी डीलर मुकेश त्यागी के ऑफिस में ताबड़तोड गोलियां चलायी थीं। यह फायरिंग उस वक्त हुई थी जब इस ऑफिस में सोनिया विहार थाने में तैनात एएसआई भगवत व कांस्टेबल पवन शादी का कार्ड देने के लिए वहां आए थे। इस गोलीबारी में वे जख्मी हो गए थे। इस वारदात के बाद बदमाशों ने लोनी में सलमान को घर से बुलाकर उसे पांच गोलियां मार हत्या कर दी थी। वहीं पिछले साल करावल नगर में दोनों बदमाशों ने किशोर उर्फ लंगड़ा की गोली मारकर हत्या की थी। इसके बाद करावल नगर में ही जोवद उर्फ फाइटर को शूटआउट कर मार डाला। राजा के ऊपर सात अपराधिक मामले दर्ज मिले हैं, जिनमें वह चार हत्या के मामले में शामिल रहा है। वहीं रमेश पर पांच मुकदमे दर्ज मिले हैं, जिनमें करावल नगर का एक मर्डर केस भी शामिल है। सूत्रों की ओर से बताया गया है रमेश की प्रॉपर्टी को लेकर अपने पिता से अनबन थी। जिस कारण उसने पिछले साल राजा के साथ मिलकर पिता का ही मर्डर करवा दिया था।