नशा बेचने वालों ने पीटा…….

0
199

कपूरथला – कपूरथला जिले के गांव फजलाबाद के पंच को नशा बेचने वालों ने इतना पीटा कि उसकी आंखों की रोशनी ही चली गई। वारदात 29 जनवरी की है। यह गुंडागर्दी पूरा गांव देख रहा था, लेकिन किसी की भी हिम्मत नहीं पड़ी कि हमलावरों को रोका जाए। वहीं, हमलावरों के आगे बेटी हाथ जोड़ती रही, लेकिन सरेआम आरोपी पीटते रहे। बाद में पंच नरिंदर सिंह और उसके बेटे को गंभीर अवस्था में सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया। 6 दिन बाद घर आए नरिंदर ने भास्कर को आपबीती बताई। पुलिस ने 7 के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। पंच नरिंदर सिंह ने बताया कि वह 29 जनवरी को गांव देसल में वह अपने बालों की कटिंग करवाने रुके थे। दुकान के साथ शराब का ठेका था, जहां पर उसके गांव के ही शंकर पुत्र धर्म और एक अन्य लड़का नाई की दुकान पर आकर गाली-गलौच करने लगे। वह वहां से अपनी बाइक पर अपने गांव फजलाबाद की ओर निकल पड़ा। रास्ते में दोनों लड़कों ने उसे घेर कर तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। वह घर की तरफ आया तो उसका लड़का अर्जुन और पत्नी खड़े थे। 7-8 लड़कों ने तलवारों से उस पर और उसके बेटे पर हमला कर दिया। पिता और भाई को खून से लथपथ देखकर बेटी घबरा गई और हमलावरों के आगे हाथ जोड़कर उनको छोड़ने की मिन्नतें करने लगी। इस पर हमलावरों ने लड़की को कहा कि जितनी बार वह उनके पैरों को छूकर माफी मांगेगी, उसके पिता पर उतने ही तलवारों के वार कम किए जाएंगे। बाद में अधमरा करने पर सभी सरेआम भाग निकले। असल में नरिंदर हमेशा इलाके के युवाओं को नशा बेचने व करने से रोकता था। इसलिए तस्कर इससे दुश्मनी रखते थे। फत्तूढींगा पुलिस ने 7 लोगों शंकर, मंगल सिंह, धर्म सिंह, लखविंदर सिंह,स्वर्ण सिंह, पड्डा, तथा नामालूम के खिलाफ इरादा-ए-कत्ल व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। वहीं, सुल्तानपुर लोधी के डीएसपी सरवण सिंह बल ने कहा कि पुलिस की टीमें आरोपियों के घर पर छापे मार रही है। उधर, डॉक्टरों का कहना है कि आंखों की जांच कर जल्द ऑपरेशन किया जाएगा।