5 बदमाशों को छुड़वा भागे….

0
249

गुड़गांव – फरीदाबाद-गुड़गांव रोड पर शनिवार दोपहर बाद बदमाश जेल की वैन पर हमला कर 5 बदमाशों को छुड़वा भागे। हालांकि इनमें से 3 को पुलिस ने फिर से गिरफ्तार कर लिया। । पकड़े गए बदमाशोां की पहचान झज्जर जिला निवासी नरेश सेठी और कपिल डागर तथा होडल निवासी धनसिंह के रूप में हुई है। हरियाणा और दिल्ली के मोस्ट वांटेड बदमाश हैं। इन पर 12-14 संगीन अपराधों के मुकदमे दर्ज हैं। मुठभेड़ के दौरान बदमाशों के पैर में भी गोली लगी है। उनका बीके अस्पताल में इलाज चल रहा है। इनके पास से 11 ऑटोमैटिक पिस्टल, एक पंपगन समेत करीब 200 राउंड गोलियां बरामद हुई है। पुलिस की टीमें अन्य फरार बदमाशों की तलाश जुटी हैं। वहीं डीजीपी मनोज यादव और पुलिस कमिश्नर केके राव ने पुलिस टीम को 5-5 लाख रुपए इनाम देने की घोषणा की है।  पुलिस कमिश्नर केके राव ने बताया कि गुड़गांव पुलिस के एएसआई जितेंद्र पुलिस टीम के साथ बस में दो मोस्ट वांटेड बदमाश सोनीपत निवासी संदीप जठेड़ी उर्फ काला और धनसिंह होडल समेत पांच आरोपियों को फरीदाबाद कोर्ट में पेश करने लाए थे। कोर्ट में पेशकर दोपहर बाद करीब साढ़े 3 बजे वह आरोपियों को लेकर गुड़गांव वापस जा रहे थे। गुड़गांव-फरीदबाद रोड पर पाली के पास हनुमान मंदिर के पास सामने से तीन गाड़ियों में सवार होकर आए आधा दर्जन से अधिक बदमाशों ने पुलिस बस के टायर में गोली माकर पंचर कर दिया। बस में मौजूद सातों पुलिसकर्मी जब तक कुछ समझ पाते बदमाशों ने एएसआई जितेंद्र के कंधे पर गोली मारकर घायल कर दिया और संदीप व धनसिंह को छुड़ा ले गए। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही पुलिस कमिश्नर ने क्राइम ब्रांच की टीमों को तत्काल मौके पर पहुंचने और बदमाशों को पकड़ने का आदेश दिया। क्राइम ब्रांच की टीमों ने थाना धौज और सिकरौना पुलिस चौकी को अलर्ट कर नाकाबंदी लगाने को कहा। क्राइम ब्रांच की टीमों ने बदमाशों की तलाश शुरू की। पुलिस को चकमा देने के लिए बदमाशों ने अपनी स्कार्पियो गाड़ी मौके पर छोड़कर पाली निवासी अजीत नामक व्यक्ति के पैर में गोली मारकर उसकी गाड़ी लूटकर भाग निकले। उधर सिकरौना में नाकाबंदी देख पुलिस पार्टी पर फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश की लेकिन नाका तोड़कर नहीं भाग पाए। गाड़ी वहीं छोड़कर भनकपुर गांव की ओर भागने लगे। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि क्राइम ब्रांच की टीमों ने भनकपुर गांव के जंगल में बदमाशों की तलाश शुरू कर दी। खुद को घिरता देख बदमाशों ने फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई में तीनों बदमाशों को गोली लगी और वह घायल हो गए। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया और इलाज के बीके अस्पताल में भर्ती कराया है। दो बदमाशों के पैर में और एक के हाथ में गोली लगी है। पकड़े गए बदमाश राजू बसौदी गैंग के सदस्य बताए जा रहे हैं। पुलिस कमिश्नर केके राव ने बताया कि पकड़ा गया मोस्ट वांटेड नरेश सेठी एक महीने पहले करीब 50 लोगों से दिल्ली में रंगदारी मांग चुका है। दिल्ली में फायरिंग कर पुलिस हिरासत से फरार चल रहा था। फरार मोस्ट वांटेड संदीप जठेड़ी उर्फ काला समेत अन्य फरार बदमाशों की तलाश की जा रही है।