आठ महीने में………..

0
160

गुरदासपुर – अभिनेता से राजनेता बने और फिर गुरदासपुर लोकसभा सीट से भाजपा के टिकट पर सांसद चुने गए सनी देओल चुनाव के बाद रविवार को बैठक में शामिल होने गुरदासपुर पहुंचे हैं। आठ महीने में यह पहला मौका है, जब सनी देओल किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल हो रहे हैं। ध्यान रहे कि बीते गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र में आते पठानकोट में सांसद के लापता हो जाने संबंधी पर्चे भी दीवारों पर चस्पा कर दिए गए थे। हालांकि उन्होंने एक वीडियो के जरिये इसका जवाब भी दिया था। रविवार को यहां पंचायत भवन में कड़ी सुरक्षा के बीच मीटिंग जारी है। मीडिया को अंदर जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। मई में लोकसभा चुनाव से कुछ ही दिन पहले सनी देओल ने भारतीय जनता पार्टी जॉइन करके सबको चौंका दिया था। इसके बाद जब मतगणना का परिणाम सामने आया तो सनी देओल पंजाब कांग्रेस प्रमुख जाखड़ को 82,459 मतों से हराकर संसद पहुंचे। उन्हाेंने यहां अपना एक प्रतिनिधि नियुक्त किया तो इसके बाद वह विवादों में आ गए थे, लेकिन बावजूद इसके संसदीय क्षेत्र में कम ही नजर आए। चुनाव जीतने के बाद सनी देओल मई मेें पठानकोट में आभार जताने पहुंचे थे। इसके बाद वह जून माह में एक दिन, अगस्त माह में दो दिन, नवंबर माह में तीन दिन क्षेेेत्र में रुके हैं। अभी तक पिछले करीब आठ महीने में एक भी सार्वजनिक बैठक या कोई दूसरा कार्यक्रम उन्होंने अटेंड नहीं किया है। यहां तक कि जनवरी के दूसरे सप्ताह में पठानकोट में कांग्रेस पार्षद गणेश विक्की ने अपने वाॅर्ड में गुरुदासपुर से भाजपा सांसद और फिल्म अभिनेता सनी देयोल के लापता होने के पोस्टर लगा दिए। विक्की का कहना है कि पिछले 8 महीने से सांसद देयोल का कोई अता-पता नहीं है, जिससे लोगों का काम नहीं हो रहा है। जो काम सांसद को करवाने चाहिए, वो सारे काम विधायक करवा रहे हैं। इसके बाद सनी ने वीडियो जारी कर नैरोगेज रेल ट्रैक में एलिवेटिड प्रोजेक्ट की मंजूरी को लेकर अपनी बात रखी और शहरवासियों की ट्रैफिक समस्या का जिक्र किया। सांसद ने दोहराया कि वह विकास करने आए हैं, इसके लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे। अब रविवार को सनी पहली बार किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में गुरदासपुर के पंचायत भवन मेंं पहुंचे। यहां उनकी एक झलक पाने के लिए लोग बेताब दिखे, वहीं अधिकारियों ने जोरदार स्वागत किया। इसके बाद वह मीडिया से दूरी बनाते हुए सीधे बैठक में पहुंच गए। बहरहाल, सांसद सनी देओल और जिले के अधिकारियों की बैठक जारी है, जिसमें इसमें होशियारपुर के सांसद सोमप्रकाश भी मौजूद हैं। मीडिया को अंदर जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है।