बिगड़े हालात पर काबू पा लिया गया…….

0
195

लोहरदगा – सीएए की रैली के बाद बिगड़े हालात पर काबू पा लिया गया है। शहर में प्रशासन ने 2 दिनों के लिए कर्फ्यू लगा दिया है। शुक्रवार सुबह सड़कों पर सन्नाटा दिखा। ऐहतियात के तौर पर शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर बड़ी संख्या में जैप, सीआरपीएफ और जिला पुलिस बल की तैनाती की गई है। वहीं, रांची से लोहरदगा जाने और आने वाली पैसेंजर ट्रेन को आज रद्द कर दिया गया। इसके अलावा, लोहरदगा की ओर से गुजरने वाली एक ट्रेन का रूट डायवर्ट किया गया है। डीआईजी समेत तमाम अधिकारी मौके पर नजर बनाए हुए हैं। गुरुवार को लोहरदगा में सिटीजनशिप एमेंडमेंट एक्ट (सीएए) के समर्थन में विहिप के जुलूस पर पथराव के बाद बवाल हो गया था। लोहरदगा की उपायुक्त आकांक्षा रंजन ने शहर में 24 और 25 जनवरी को कर्फ्यू की घोषणा की है। उनके आदेश पर सभी स्कूल-कॉलेजों को दो दिन के लिए बंद कर दिया गया है। प्रशासन की ओर से अपील की गई है कि कर्फ्यू की अवधि में किसी भी व्यक्ति का अपने घर से बाहर निकलना वर्जित/निषिद्ध है। अपील है कि शांति बनाए रखें। अफवाहों पर ध्यान नही दें। किसी प्रकार का सरकारी/निजी संपत्ति का तोड़फोड़ अथवा आगजनी नही करें। ऐसा करते पाए जाने पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। किसी प्रकार की अप्रिय स्थिति होने पर दूरभाष संख्या 06526-222513 अथवा 100 पर प्रशासन को सूचित करें। सुरक्षा के मद्देनजर शहर में डीएसपी रैंक के 12 अफसरों की तैनाती की गई है। सभी को अगले आदेश तक तैनात रहने को कहा गया है। सीनियर अफसरों ने लोहरदगा एसपी प्रियदर्शी आलोक को उपद्रवियों को चिह्नित कर कार्रवाई करने का आदेश दिया है। शहर में मौजूद डीआईजी एवी होमकर स्थितियों पर नजर रख रहे हैं। हालात पर नियंत्रण रखने के लिए लातेहार, गुमला, रांची, बोकारो, धनबाद से जैप और सीआरपीएफ और जिला पुलिस बल का सहयोग लिया गया है। गुरुवार देर शाम करीब 8 बजे शहर के निगनी लॉज के पास और बरवाटोली के निकट कबाड़ी दुकान में उपद्रवियों ने आगजनी की, लेकिन उस पर तुरंत काबू पा लिया गया। इधर, गुरुवार को शहर में माहौल बिगड़ने के बाद कुछ बच्चे देर रात तक स्कूल में ही फंसे रहे। सूचना मिलने के बाद प्रशासन की ओर से बच्चों को स्कूल में खाने-पीने और रुकने की व्यवस्था की गई। वहीं, सीएए के समर्थन में शामिल कुछ लोग भी देर शाम तक घर नहीं पहुंच पाए। मार्च में शहर के आसपास के प्रखंड से कुछ महिलाएं और पुरुष भी शामिल हुए थे जिन्हें प्रशासन की पहल पर धर्मशाला में रखा गया था। बच्चों को और मार्च में शामिल हुए महिला-पुरुषों को आज पुलिस-प्रशासन के संरक्षण में घर पहुंचाया जाएगा। हालांकि कितने स्कूल के कितने बच्चे गुरुवार रात को स्कूल में फंसे रहे, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। सुरक्षा के मद्देनजर ट्रेन संख्या 68135 रांची-लोहरदगा मेमू पैसेंजर अप और डाउन को आज रद्द किया गया है। साथ ही ट्रेन संख्या 18636 सासाराम-रांची एक्सप्रेस का रूट डायवर्ट किया गया है। ये ट्रेन निर्धारित मार्ग टोरी-लोहरदगा-रांची मार्ग से ना चलते हुए परिवर्तित मार्ग टोरी-बरकाकाना-मुरी-रांची होकर चलेगी।