नेताओं की फोन टैपिंग हुई……

0
219

मुंबई – महाराष्ट्र सरकार को संदेह है कि विधानसभा चुनाव के दौरान शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेताओं की फोन टैपिंग हुई। इसमें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राकांपा प्रमुख शरद पवार के फोन भी शामिल हो सकते हैं। गुरुवार को गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि भाजपा सरकार ने कई अहम लोगों के फोन टैप करने का आदेश दिया था। देशमुख ने भाजपा सरकार पर सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग का आरोप लगाया। मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। फोन टैपिंग की खबर आने के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने शुक्रवार को कहा कि मैं बाल ठाकरे का चेला हूं, जो कुछ करता हूं, खुले तौर पर करता हूं। देशमुख ने कहा- ‘‘हमें पिछली सरकार के खिलाफ फोन टैपिंग और जासूसी की कई शिकायतें मिली हैं। उद्धव ठाकरे, संजय राउत और शरद पवार जैसे वरिष्ठ राजनेताओं के फोन टैप किए गए।’’ पिछले हफ्ते कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया था कि पिछली महाराष्ट्र सरकार के अधिकारी फोन टैपिंग में शामिल थे। उन्होंने कहा था कि एक अफसर ने इजराइल का दौरा किया और वहां की फर्म एनएसओ के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की थी। एनएसओ पेगासस की तरह जासूसी उपकरण बनाती है। उस दौरान दिग्विजय के बयान पर देशमुख ने कहा था कि अगर कोई अधिकारी दोषी पाया गया तो कड़ी कार्रवाई करेंगे। देशमुख ने शुक्रवार को कहा कि जासूसी उपकरणों के अध्ययन के लिए अधिकारियों का एक दल इजराइल भेजा गया था। हम पता लगा रहे हैं कि कौन इजराइल गया था और क्या इसमें कोई आधिकारिक साठगांठ भी थी।