सत्ता में वापसी की पूरी कोशिश……..

0
257

नई दिल्ली. दिल्ली की सत्ता में वापसी की पूरी कोशिश कर रही भाजपा ने शुक्रवार को 57 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी। पार्टी ने जीत के लिए अपने उम्मीदवारों की जातीय समीकरण, छवि को ध्यान में रखा है। सूची में मौजूदा और पुराने उम्मीदवारों पर भरोसा जताया है। आम आदमी पार्टी से आए 2 विधायकों, चार महिला, 11 एससी, 2 सिखों, 15 मौजूदा और पूर्व निगम पार्षदों को भी जगह दी गई है। 57 प्रत्याशियों की इस सूची में मुस्लिम उम्मीदवार को तरजीह नहीं दी गई है। पार्टी ने अभी यह स्पष्ट नहीं किया है कि केजरीवाल के सामने कौन उतरेगा। आप के राघव चड्ढा के सामने आरबी सिंह को लाया गया है। वहीं दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसौदिया के सामने रवि नेगी मैदान में होंगे। आम आदमी पार्टी के ही सौरभ भारद्वाज के सामने शिखा राय को उतारा गया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने नामों की घोषणा करते हुए कहा कि बाकी बची 13 सीटों पर भी जल्द ही उम्मीदवार घोषित किए जाएंगे। पार्टी ने एक बार फिर बड़ी संख्या में एमसीडी के पार्षदों पर दांव पर लगाया है। भाजपा उम्मीदवारों की सूची देखें तो पता चलता है कि मौजूदा छह और नौ पूर्व पार्षदों पर पार्टी ने मेहरबानी दिखाई है। शिखा राय दक्षिणी दिल्ली नगर निगम में पार्षद हैं, उन्हें ग्रेटर कैलाश से टिकट दिया गया है। कैलाश सांखला साउथ एमसीडी से पार्षद हैं, वह मादीपुर से लड़ेंगी। नॉर्थ एमसीडी में स्थाई समिति के चेयरमैन जय प्रकाश को सदर बाजार से उम्मीदवार बनाया है। पार्षद विजय भगत, किरण वैद्य और मनीष चौधरी को भी टिकट दिया है। जिन पूर्व पार्षदों को टिकट दिया गया है, उनमें रेखा गुप्ता को शालीमार बाग से, आशीष सूद को जनकपुरी से, शैलेंद्र मांटी को मालवीय नगर से, खुशी राम को आंबेडकरनगर से, योगेंद्र चंदोलिया को करोल बाग से, रविंद्र गुप्ता को मटिया महल से, लता सोढ़ी को बल्लीमारन से, सुमन गुप्ता को चांदनी चौक से व महेंद्र नागपाल को वजीरपुर से- शामिल हैं। 13 सीटों पर अभी नहीं घोषित हुए हैं उम्मीदवार । जनता को उम्मीद थी कि वो बताएंगे कि सीएम केजरीवाल के खिलाफ उनका चेहरा कौन होगा। लेकिन सूची से साफ हो गया कि बीजेपी दिल्ली में बिना कैप्टन की है। बिना दूल्हे की बारात है। -संजय सिंह, आप, दिल्ली प्रभारी ,पिछला चुनाव हारने वाले कई को टिकट नहीं ,  भाजपा ने 2015 में चुनाव हार जाने वाले कई नेताओं को इस बार टिकट नहीं दिया है। रिठाला सीट से तीन बार के विधायक रहे कुलवंत राणा की जगह मनीष चौधरी को चुनावी मैदान में उतारा गया है। तिमारपुर से प्रो. रजनी अब्बी की जगह सुरेंद्र सिंह बिट्टू को पार्टी ने चुनाव मैदान में उतारा है। बादली से राजेश यादव, बवाना से गुगन सिंह रंगा, सुल्तानपुर माजरा से प्रभु दयाल का टिकट कट गया है। मंगोलपुरी सीट से सुरजीत, त्रिनगर से नंदकिशोर इस बार टिकट पाने में सफल नहीं हुए। वहीं मॉडल टाउन से 2015 में चुनाव लड़कर हारने वाले विवेक गर्ग की जगह पार्टी ने केजरीवाल सरकार में मंत्री रहे और आप के बागी कपिल मिश्रा को टिकट दिया है। इसी तरह से सदर बाजार से प्रवीन जैन, बल्लीमरान से श्याम लाल, लक्ष्मीनगर से बीबी त्यागी, गांधी नगर से जितेंद्र चौधरी, सीलमपुर से संजय जैन, घोंडा से अजय महावत, पटेल नगर से कृष्ण तीरथ का टिकट कटा है। जनकपुरी, उत्तम नगर, पालम, जंगपुरा, मालवीय नगर, आंबेडकर नगर, ग्रेटर कैलाश, कोंडली और पटपड़गंज से भी पार्टी ने चेहरे बदल दिए हैं। 26 नेताओं के टिकट काटे गए हैं। इसमें भाजपा दिल्ली के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और रिठाला सीट से तीन बार विधायक रहे कुलवंत राणा का नाम प्रमुख तौर पर है।