भारत और श्रीलंका के बीच 3 मैचों की सीरीज का पहला टी-20 मैच गुवाहाटी में खेला जाएगा…..

0
92

भारत और श्रीलंका के बीच 3 मैचों की सीरीज का पहला टी-20 मैच गुवाहाटी में खेला जाएगा। दोनों टीमें रविवार (5 जनवरी) को बासपारा स्टेडियम में आमने-सामने होंगी। दूसरा टी-20 इंदौर और तीसरा मैच पुणे में खेला जाएगा। श्रीलंका के खिलाफ टी-20 सीरीज से भारत नए साल की शुरुआत कर रहा है, जो ऑस्ट्रेलिया में होने वाले आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप की तैयारियों का हिस्सा हैं। भारत ने हाल ही में बांग्लादेश और वेस्टइंडीज को सीरीज में मात दी है और अब श्रीलंका के खिलाफ भी टीम इंडिया ऐसा ही प्रदर्शन जारी रखना चाहेगी।

श्रीलंका के खिलाफ भारत का रिकॉर्ड काफी अच्छा रहा है। भारत ने श्रीलंका के खिलाफ अब तक 16 मैच खेले हैं, जिसमें से उसने 11 मैच जीते हैं और पांच मैच हारे हैं। भारत गुवाहाटी में होने वाले टी-20 मैच को जीतकर साल का आगाज शानदार तरीके से करना चाहेगा। श्रीलंका के खिलाफ भारतीय टीम में रोहित शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, दीपक चाहर और मोहम्मद शमी नहीं हैं। वहीं, दूसरी तरफ टीम में जसप्रीत बुमराह और शिखर धवन की वापसी हो गई है। कुछ खास खिलाड़ियों के टीम में नहीं होने पर कप्तान विराट कोहली के लिए प्लेइंग इलेवन का चुनाव काफी मुश्किल होगा।

शिखर धवन सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के मैच के दौरान चोटिल हो गए थे, जिसके कारण उनके घुटने पर 25 टांके लगाने पड़े थे। चोट की वजह से शिखर धवन वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे और टी-20 टीम का हिस्सा नहीं था, लेकिन श्रीलंका के खिलाफ अब उनकी टीम इंडिया में वापसी हो गई है।  सैयद अली ट्रॉफी में चोटिल होने से पहले शिखर धवन ने 0, 9, 19, 35 और 24 रन बनाए थे। उनकी बल्लेबाजी को लेकर काफी आलोचना हो रही थी, लेकिन रणजी ट्रॉफी मैच में 103 रनों की धमाकेदार पारी खेलकर शिखर ने अपनी फिटनेस और फॉर्म में वापस आने का इशारा दिया है।

केएल राहुल: रोहित शर्मा को श्रीलंका के खिलाफ टी-20 सीरीज में आराम दिया गया है। रोहित की गैरमौजूदगी में केएल राहुल, शिखर धवन के साथ ओपनिंग करेंगे। केएल राहुल ने शिखर धवन की गैरमौजूदगी में रोहित शर्मा के साथ मिलकर ना केवल टीम को अच्छी ओपनिंग दी बल्कि शानदार पारियां भी खेली। राहुल ने पिछले 3 टी-20 मैचों में 130 के स्ट्राइक रेट के साथ 62, 11 और 91 रन की पारियां खेली हैं।

विराट कोहली: वेस्टइंडीज के खिलाफ कप्तान विराट कोहली का परफॉर्मेंस शानदार रहा है। विंडीज के खिलाफ तीन मैचों में विराट ने नाबाद 94, 19 और नबाद 70 रनों की पारियां खेलीं। विराट कोहली की नजरें शानदार परफॉर्मेंस साथ-साथ टी-20 इंटरनेशनल में सबसे ज्यादा रन बनाने पर भी रहेगी। फिलहाल टी-20 में विराट कोहली और रोहित शर्मा रन बनाने के मामले में बराबरी पर चल रहे हैं। लेकिन इस सीरीज में विराट कोहली एक रन बनाते ही रोहित शर्मा से आगे निकल जाएंगे।

श्रेयस अय्यर: श्रेयस अय्यर के टीम इंडिया में आने के बाद से नंबर 4 की डिबेट पर विराम लग गया है। वेस्टइंडीज के खिलाफ भी उनका प्रदर्शन काबिले-तारीफ रहा है। श्रेयस अय्यर अपनी इसी परफॉर्मेंस को जारी रख आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2020 में अपनी जगह पक्की करना चाहेंगे।

ऋषभ पंत: वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में ऋषभ पंत ने अपनी बल्लेबाजी से सभी का ध्यान अपनी तरफ खींचा। इस युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ने पिछले तीन टी-20 मैचों में 33*, 18 और 0 रन बनाए। लेकिन वेस्टइंडीज के खिलाफ 3 मैचों की वनडे सीरीज में उन्होंने 71, 39 और 0 रन की पारियां खेली। हालांकि, विकेटकीपिंग को लेकर उनकी काफी आलोचना हुई। ऋषभ पंत को महेंद्र सिंह धोनी का उत्तराधिकारी कहा जा रहा है। ऐसे में आसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2020 में अपनी जगह पक्की करने के लिए उन्हें विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी दोनों से ही प्रभावित करना होगा।

शिवम दुबे: बहुत कम वक्त में ऑलराउंडर शिवम दुबे ने अपने परफॉर्मेंस से सभी को प्रभावित किया। इंटरनेशन क्रिकेट की बात करें तो शिवम ने 3 टी-20 और 3 वनडे मैच ही खेले हैं। 5 मौकों पर उन्होंने अपनी बल्लेबाजी से बहुत कम ओवरों में ही अपना इंप्रेशन छोड़ा है। अपनी शानदार छक्के जड़ने की काबिलियत के दम उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में 30 गेंदों में 54 रनों की शानदार पारी खेली। उनकी इस पारी के बाद विराट कोहली ने उन्हें नंबर 3 पर बल्लेबाजी के लिए उतार दिया था। अब देखना होगा कि श्रीलंका के खिलाफ विराट कोहली शिवम दुबे को लेकर किस तरह के रिस्क लेते हैं।

रवींद्र जडेजा: हार्दिक पांड्या की गैरमौजूदगी में रवींद्र जडेजा विराट कोहली के लिए टीम के ऑलराउंडर की भूमिका निभा रहे हैं। बल्ले और बॉल के साथ-साथ शानदार फील्डिंग के दम पर वह श्रीलंका के खिलाफ पहले टी-20 मैच में प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने में कामयाब रह सकते हैं।

वाशिंगटन सुंदर: वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में सभी बॉलर संघर्ष करते हुए नजर आए। लेंडल सिमंस और निकोलस पूरन की शानदार बल्लेबाजी के सामने भारतीय गेंदबाज बेबस नजर आ रहे थे। मैच में सुंदर ने 4 ओवर में सिर्फ 26 रन दिए। वाशिंगटन सुंदर की पावरप्ले में रन गति पर रोक लगाने की काबिलियत उनके लिए प्लेइंग इलेवन के रास्ते खोलती है। उंगलियों का स्पिनर होने की वजह से ओस होने पर वह अहम भूमिका निभा सकते हैं।

युजवेंद्र चहल: युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव में से किसी एक को प्लेइंग इलेवन में चुनना भारत के लिए हमेशा से मुश्किल रहा है। लेकिन अगर पिछले 12 महीनों के आंकड़ों पर नजर डालें तो चहल ज्यादा प्रभावित करते हैं। गुवाहाटी टी-20 में उन्हें भारतीय प्लेइंग इलेवन में शामिल करना ही टीम इंडिया के लिए सही ऑप्शन होगा।

जसप्रीत बुमराह: प्रतिष्ठित विजडन की दशक की सर्वश्रेष्ठ टी-20 अंतरराष्ट्रीय टीम में विराट के साथ अन्य भारतीय के रूप में स्थान बनाने वाले बुमराह वर्तमान में भारतीय टीम के बेहतरीन तेज गेंदबाजों में गिने जाते हैं जिनका लोहा सबसे अधिक डेथ ओवरों में माना जाता है। 26 साल के बुमराह अक्टूबर 2019 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज की शुरुआत से ही टीम से बाहर हैं। उन्होंने पिछले काफी समय से टी-20 क्रिकेट नहीं खेला है, लेकिन श्रीलंका के खिलाफ सीरीज़ से पहले नेट पर जमकर अभ्यास किया है और उनके प्रदर्शन पर सभी की निगाह रहेगी।

नवदीप सैनी: नवदीप सैनी अब पूरी तरह से फिट हैं और खेलने को भी तैयार है। भुवनेश्वर कुमार और दीपक चाहर की गैरमौजूदगी में नवदीप सैनी के पास टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की करने का शानदार मौका होगा।