लोग गैर-भाजपा दलों के साथ……

0
180

मुबई-  झारखंड विधानसभा चुनाव के नतीजों पर राष्टवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार ने कहा है कि परिणाम से साफ हो गया है कि लोग गैर-भाजपा दलों के साथ हैं। उन्होंने कहा कि राजस्थान, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के बाद लोगों ने झारखंड में भी भाजपा को सत्ता को दूर रखने का फैसला किया है। पवार ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था संकट में आ गई है, मंदी दिन ब दिन बढ़ रही है। इन सभी चीजों के वजह से भी लोगों ने भाजपा को नकार दिया है।  शरद पवार ने यह भी कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के चलते देश के कुछ गुटों में धार्मिक अंतर बढ़ाने की कोशिश की गई। दिल्ली में प्रधानमंत्री ने भाषण में कहा कि एनआरसी पर हमने कोई चर्चा नहीं की। वहीं देश के गृहमंत्री अमित शाह ने सदन में स्पष्ट रूप से इसपर बयान दिया है। इसके पहले माननीय राष्ट्रपति ने भी अपने अभिभाषण में एनआरसी को देशभर में लागू करने की बात कही है। दोनों सदनों में गृहमंत्री ने इसपर बयान दिया है। इसके कारण अनेक राज्यों के शहरों में लोग परेशान हैं। पवार ने आगे कहा कि भाजपा ने कहा था कि उनकी जीत होगी, लेकिन जनता ने उनको जवाब दिया है। इसके पहले छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और राजस्थान में भी भाजपा की बहुमत थी जो अब नहीं है। पवार ने कहा कि झारखंड की स्थिति अन्य राज्यों से अलग है। आदिवासी बहुल है, गरीबी बहुत है। ऐसे में गवर्मेंट पॉवर का इस्तेमाल कर भाजपा सत्ता को अपनी ओर करने की कोशिश कर रही थी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। इसके लिए झारखंड के जनता का धन्यवाद। उन्होंने आखिर में कहा कि देश एक नए रास्ते में जा रहा है। पवार ने कहा कि हमने भी झारखंड में 5-6 जगहों पर अपने प्रत्याशियों को उतारा था, हमारे प्रत्याशी तो नहीं जीते हैं, लेकिन जनता ने भाजपा के खिलाफ विचारधारा को अपना समर्थन दिया है।