BSNL के 60 फीसदी कर्मचारी ले सकते हैं VRS, जानें क्यों ?

0
206

भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) से आगरा रीजन के 60 प्रतिशत कर्मचारी वीआरएस लेंगे। बीएसएनएल के रिवाइवल प्लान के सामने आने के बाद 50 साल से अधिक उम्र के लगभग सभी कर्मचारियों ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) की तैयारी कर ली है।

आगरा रीजन के 50 साल से अधिक उम्र के सभी कर्मचारी वीआरएस ले जाते हैं तो रीजन में कर्मचारियों की संख्या 200 से 250 के मध्य ही रह जाएगी। आगरा रीजन के अलावा मंडल के अन्य जनपदों से आ रही खबरों को सच माना जाए तो करीब 800 कर्मचारी वीआरएस लेने को तैयार हो गए हैं।

बीएसएनएल के आगरा रीजन (आगरा/फिरोजाबाद) में करीब 680 अधिकारी/कर्मचारी हैं। संकट में घिरी सरकारी संचार कंपनी में इन दिनों वेतन के लाले पड़े हुए हैं। बीते दिनों केन्द्र सरकार ने बीएसएनएल का रिवाइवल प्लान लांच किया था। इसके तहत 55 साल से अधिक उम्र के कर्मियों को वीआरएस लेने का विकल्प सुझाया गया था। वीआरएस प्लान आकर्षक होने के चलते आगरा रीजन के करीब 60 प्रतिशत कर्मचारी इसके लिए तैयार हो गए हैं।

एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि 50 साल से अधिक उम्र के कर्मचारियों को पता है कि बीएसएनएल में भविष्य अंधकारमय है। सरकार अभी तो  पेशकश कर रही है। यदि वीआरएस नहीं लिया तो संभव है कि बाद में सरकार रिटायरमेंट उम्र कम करके ऐसे लोगों को बाहर निकाल दे। अधिकारी का कहना है कि अभी जो वीआरएस प्लान पेश किया है वह भले ही आकर्षक न हो, परंतु नुकसानदायक भी नहीं है। कंपनी कभी भी प्राइवेट हाथ में जा सकती है। तब तो स्थिति और खराब होगी।