देवी मंदिर में पूजा अर्चना की…..

0
248
महाराजगंज-  नवरात्रि के पहले दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को फरेंदा तहसील स्थित लेहड़ा देवी मंदिर में पूजा अर्चना की और पर्यटन विकास से संबंधित 18 करोड़ की दो योजनाओं का लोकार्पण व 12 योजनाओं का शिलान्यास किया। उन्होंने कुपोषण अभियान के तहत नवजात बच्चों का अन्नप्राशन भी कराया। इस मौके पर सीएम ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में दुनियाभर में भारत का मान बढ़ा हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति ने पीएम को फादर आफ नेशन की उपाधि देकर यह साबित किया है कि मजबूत इच्छा शक्ति के साथ भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। सीएम ने कहा कि आज शारदीय नवरात्र का पहला दिन है। ये मेरा सौभाग्य है कि आज के दिन यहां पर दर्शन के लिए आया हूं। शहीद बंधु सिंह की ये स्थली है। शारदीय नवरात्र के नौ दिन लोग मां दुर्गा की पूजा अर्चना और व्रत करेंगे। इसके बाद रावण दहन भी करेंगे।
सीएम ने कहा कि, 2022 में तरकुलहा मंदिर का शताब्दी वर्ष है। यहां पर स्मारक के साथ धर्मशाला और अन्य सुविधाएं मिलेंगी। एम्स और चीनी मिल विकास की गाथा लिख रहे हैं। आने वाले दो साल पूर्वांचल के लिए बहुत महत्वपूर्ण होने वाले हैं। कहा कि बिना किसी भेदभाव के गांव, गरीब, किसान मजदूरों को सरकार की योजनाओं का लाभ मिल रहा है। आस्था का सम्मान करते हुए सरकार विकास योजनाओं को तेजी से आगे बढ़ाने के प्रयास में जुटी है। सीएम ने कहा कि, यहां पर भव्य मंदिर और शहीद बंधु सिंह का भव्य स्मारक साल भर में बनाकर दिखाएंगे। 2022 में चौरीचौरा कांड के 100 वर्ष पूरे होंगे। चौरीचौरा कांड देश की आजादी में मील का पत्थर था। उसने आजादी के आंदोलन को नई दिशा दी। शहीदों के बलिदान का परिणाम है कि हम आज आजाद हैं और मां तरकुलहा देवी के दर्शन कर रहे हैं। क्या हम भारत के गुलाम रहते हुए ऐसा कर पाते?
उन्होंने कहा कि, पहले 5 वर्ष गरीबों के लिए। दूसरे में 370 और तीन तलाक के दंश से महिलाओं को मुक्ति और घुसपैठियों को देश से बाहर का रास्ता दिखाया है। भाजपा सरकार देश के गरीबों को उनका हक दिलाने के लिए तत्पर है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से ही एक विधान, एक प्रधान, एक निशान की मांग चल रही थी, लेकिन वोटबैंक की राजनीति में देश पीछे छूट रहा था। जिसे मोदी सरकार ने एक झटके में खत्मकर देश को वोटबैंक की राजनीति से उबार कर अपनी मजबूत इच्छाशक्ति के बल पर एक अखण्ड भारत के सपने को साकार किया।