0
217
रांची –  वज्रपात के लिहाज से झारखंड काफी संवेदनशील है। यहां हर साल वज्रपात से बड़ी संख्या में माैतें हाेती हैं। इसे देखते हुए अापदा प्रबंधन विभाग ने अब लाेगाें काे जागरूक करने का फैसला लिया है, ताकि माैतें राेकी जा सके। माैसम विभाग करीब एक घंटा पहले आपदा प्रबंधन विभाग काे बता देता है कि किस क्षेत्र में वज्रपात हाेने की संभावना है। अब आपदा प्रबंधन विभाग वज्रपात से पहले उस क्षेत्र के लाेगाें काे माेबाइल पर एसएमएस के जरिए इसकी सूचना दे देगा। यह प्रस्ताव तैयार हाे गया है। इसे जल्दी ही गृह विभाग काे भेजा जाएगा। आपदा प्रबंधन के संयुक्त सचिव मनीष कुमार ने बताया कि इसकी सफल टेस्टिंग कर ली है। इसके साथ ही विभाग आपदा के प्रति जागरूकता के लिए इसे नाैवीं और 10वीं के पाठ्यक्रम में शामिल करने का प्रस्ताव भी तैयार कर रहा है।
माेबाइल टावर से भेजा जाएगा अलर्ट –  माैसम विभाग जैसे ही आपदा प्रबंधन विभाग काे वज्रपात के संभावित क्षेत्र की जानकारी देगा, उसे तत्काल उस इलाके के विभिन्न माेबाइल टावराें के संपर्क में माैजूद माेबाइल पर एसएमएस भेज देगा। इस तरह वज्रपात के संभावित इलाकाें में सबसे तेज अलर्ट भेजा जा सकेगा। विभाग ने माेबाइल कंपनियाें से मिलकर इसे टेस्ट कर लिया है। विभाग का मानना है कि अब हर व्यक्ति के पास माेबाइल है। इससे एसएमएस भेजकर उन्हें अासानी से सतर्क किया जा सकता है।