लटकी मिली लाश…..

0
346

सिमडेगा-  सिमडेगा थाना क्षेत्र के अरानी गांव में पंचायत भवन के पीछे रविवार सुबह एक पेड़ में फांसी के फंदे पर एक साथ झूलते हुए दो युवतियों के शव बरामद हुए हैं। दोनों युवतियां सुनंदिनी बागे व श्रद्धा सोरेंग ओड़िशा की हॉकी खिलाड़ी थीं और ये स्टील ऑथोरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड सेल के डे बोर्डिंग की सदस्य भी थीं। सुनंदिनी (23) तथा श्रद्धा (18) का शव जिस तरह से पेड़ से एक ही रस्सी के फंदे में झूलते तथा पैर जमीन से लगभग सटे हुए मिले हैं, उससे परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। पुलिस हत्या व आत्महत्या दोनों बिंदुओं पर छानबीन कर रही है। एसडीपीओ राजकिशोर ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों का पता चल पाएगा। पुलिस परिजनों से पूछताछ करने के अलावा आसपास के इलाकों में मौत का सुराग ढूंढ़ने में जुटी है। सुनंदिनी बागे ओड़िशा के सुंदरगढ़ जिले के गुरंडिया थाना क्षेत्र के लचरा जीपी टोली कुंदनिया गांव की निवासी थी तथा श्रद्धा साेरेंग सिमडेगा जिला स्थित बांसजोर प्रखंड के भुकुमुंडा पतराटोली की रहने वाली थी।रविवार की सुबह करीब आठ बजे अरानी पंचायत भवन के आसपास रहने वाले लोगों ने पेड़ से एक साथ झूलते दो शवों को देखने के बाद इसकी सूचना पुलिस काे दी थी। पुलिस ने घटनास्थल पहुंचकर शवों को पेड़ से उतारा। मृतका सुनंदिनी और श्रद्धा सोरेंग के शवों के पास से मिले दो बैगों को खोलकर देखा तो इनमें से एक में रस्सियों के दो टुकड़े और थे। ये टुकड़े उसी रस्सी के थे जिसके बड़े हिस्से में दो फंदा बनाकर युवतियां फांंसी से लटकी हुई थीं। बैग में एक लाइटर, एक मोबाइल फोन तथा चाकू व ब्लेड भी मिला है। बांसजोर थाना क्षेत्र के भुकुमुंडा पतराटोाली निवासी राजेश सोरेंग की 18 वर्षीय पुत्री श्रद्धा शनिवार को अपने घर में यह बोलकर निकली थी कि वह बिरमित्रापुर ओड़िशा स्थित अपने स्कूल में पढ़ाई के लिए जा रही है। उधर, सुनंदिनी के परिजनों को पता नहीं था कि उनकी बेटी किसके साथ और कहां गई हुई है। इधर, इस बात का अबतक पता नहीं चला है कि दोनों लड़कियां सिमडेगा के अरानी इलाके में किस काम से और किसके पास आई हुई थीं। लोगों के अनुसार शनिवार को शाम में दोनों लड़कियों को अरानी गांव से करीब तीन किमी पहले स्थित बीरू गांव में दुकान से बिस्कुट आदि खरीदते देखा गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here