नहीं लगेगी लंबी कतार….

0
294

उज्जैन –  नागपंचमी पांच अगस्त को है। महाकाल मंदिर स्थित नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट रविवार रात 12 बजे खुल जाएंगे। पूजन आरती के बाद सभी दर्शनार्थियों को 24 घंटे दर्शन होंगे। मंदिर के पट सोमवार रात 12 बजे पूजन आरती के बाद फिर बंद हो जाएंगे। यह मंदिर साल में केवल नागपंचमी पर ही 24 घंटे के लिए खुलता है। सुप्रीम कोर्ट की विशेषज्ञ समिति ने महाकाल मंदिर प्रबंधन को स्ट्रक्चर की सुरक्षा के लिए मंदिर पर श्रद्धालुओं का भार कम करने का सुझाव दिया है। इसलिए इस बार व्यवस्था में बदलाव किया गया है। आईजी राकेश गुप्ता के अनुसार श्रद्धालुओं को लोहे की सीढ़ी से उतरने के बाद सीधे गर्भगृह में प्रवेश दिया जाएगा। पिछले साल तक कतार को मंदिर के सामने के पिलर्स से घुमा कर ले जाया जाता था। इससे कतार लंबी व धक्का-मुक्की भी होती थी। नई व्यवस्था में कतार छोटी होगी और दर्शन के लिए ज्यादा जगह भी मिलेगी। गर्भगृह के बाहर पुजारी रहेंगे जो श्रद्धालुओं का जल-दूध, प्रसाद ग्रहण कर भगवान को अर्पित करेंगे। सामान्य दर्शनार्थियों को त्रिवेणी संग्रहालय की ओर से आने वाले मार्ग पर से कतार में लगना होगा। वे रुद्रसागर, भारतमाता मंदिर, माधव सेवा न्यास पार्किंग से मंदिर में प्रवेश करेंगे। 250 रु. से सशुल्क सुविधा का टिकट लेने वाले रुद्रसागर के किनारे भारत माता मंदिर के पीछे से कतार में लगेंगे तथा शंखद्वार से प्रवेश करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here