एक और मामला दर्ज…..

0
253

रामपुर-  सपा सांसद आजम खान की मुश्किलों का ग्राफ हर दिन बढ़ रहा है। शनिवार को आजम खान पर जमीन हड़पने का एक और मामला दर्ज किया गया है। इस एफआईआर में आजम के अलावा उनके सहयोगी पूर्व सीओ आले हसन खां और अजीमनगर थाने के पूर्व प्रभारी कुशलवीर सिंह व एक अज्ञात शामिल हैं। आरोप है कि, जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीन हड़प ली गई। इसका विरोध करने पर थानाध्यक्ष ने 15 घंटे तक हवालात में रखा था और अत्याचार किया गया था। थाना अजीमनगर के सींगनखेड़ा के मजरा आलियागंज निवासी असरार पुत्र अब्दुल अली का आरोप है कि, आजम खां और पूर्व सीओ आले हसन खां व तत्कालीन थाना अध्यक्ष अजीमनगर ने जमीन कब्जाने के लिए कई अत्याचार और उत्पीड़न किया। जान से मारने की धमकी देते हुए उसे 15 घंटे हवालात में कैद रखा। बताया, वह गाटा संख्या 1230 का सहखातेदार है। इस जमीन से वह अपना व परिवार का पालन पोषण करता है। गांव में मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के निर्माण के समय उप्र शासन में तत्कालीन कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आजम खां ने उसकी जमीन विश्वविद्यालय को देने के लिए नाजाएज तरीके से प्रताड़ित किया। साथ ही सत्ता के बल पर जबरदस्ती उसकी भूमि को विश्वविद्यालय के नाम दर्ज कराने को कहा। जुल्म बर्दाश्त करते हुए इसके लिए राजी नहीं होने पर तत्कालीन सीओ आले हसन खां, तत्कालीन अजीमनगर थाना अध्यक्ष कुशलवीर सिंह और एक अन्य ने उसको उसके घर से उठा लिया और थाने में ले जाकर प्रताड़ित किया। फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी दी।  इसके बाद जमीन हड़प ली गई। इस आरोप के आधार पर आजम खां सहित पूर्व सीओ आले हसन खां, पूर्व थाना अध्यक्ष कुशलवीर सिंह सहित चार लोगों के खिलाफ जमीन हड़पने का मुकदमा दर्ज किया गया है। यह केस भारतीय दण्ड संहिता 1860 के तहत धारा 506, 389, 447, 342 में मुकदमा दर्ज किया गया है। आजम खान पर जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीन हड़पने के मामले में अब तक 27 मामले दर्ज हो चुके हैं। इसके अलावा उन्हें भूमाफिया भी घोषित किया जा चुका है। ईडी ने मनी लॉड्रिंग का केस भी दर्ज किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here