कारोबारी की हत्या

0
452

मुजफ्फरपुर-  पुलिस अफसरों का करीबी व शराब माफियाओं के टारगेट में रहे अंकज ठाकुर की अपराधियाें ने शुक्रवार की रात शहर से घर लाैटने के दाैरान गोली मार कर हत्या कर दी। घटना झपहां ओपी से एक किलाे मीटर पूरब व बथनाहां स्थित आवास से महज 150 गज पहले की है। देर रात तक एसकेएमसीएच में लाेगाें की भीड़ जमी रही। माैके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियाें काे भारी विराेध का सामना करना पड़ा।
तीन संदिग्ध हिरासत में – अंकज ठाकुर के पिता वशिष्ठ नारायण ठाकुर के बयान पर 7 लाेगाें के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें नेउरी के रामबली साह काे मुख्य आराेपी बनाया गया है। साथ ही नेउरी का अंगद कुमार, पवन कुमार, पप्पू कुमार व रंजीत कुमार, खालीकपुर का धीरज कुमार तथा मेडिकल चाैक निवासी उदय प्रकाश काे सह आराेपी बनाया गया है। देर रात पुलिस ने तीन संदिग्धों काे हिरासत में लिया है। अंकज ठाकुर की पहले ट्रैक्टर एजेंसी था। प्राॅपर्टी खरीद-बिक्री के अलावे कर्ई अन्य काराेबार से भी अंकज जुड़ा था।
लोगों ने बदमाशों का पीछा किया – अंकज का भाई पंकज ठाकुर शिक्षा विभाग में तैनात हैं। जबकि पिता वशिष्ठ नारायण ठाकुर एसकेएमसीएच से सेवानिवृत्त हाे चुके हैं। स्थानीय लाेगाें ने बताया कि अंकज ठाकुर के घर के पास फायरिंग की आवाज सुनकर कुछ लोगों ने अपराधियों को खदेड़ा, लेकिन अपाचे और बुलेट सवार चार अपराधी भाग खड़े हुए। राेड किनारे बाइक से घर लाैट रहा अंकज लुढ़क गया। आनन-फानन में एसकेएमसीएच ले जाया गया, जहां डाॅक्टर ने मृत घाेषित कर दिया। सूचना मिलने पर सिटी एसपी, नगर डीएसपी और प्रभारी अहियापुर थानेदार मौके पर पहुंचे।
अहियापुर पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए लाेगाें ने विराेध जताया। पुलिस को लाेगाें का आक्राेश झेलना पड़ा। सिटी एसपी ने एक सप्ताह के अंदर कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद लोग शांत हुए।
शराब कारोबारियों के निशाने पर था – अंकज ठाकुर के अधिवक्ता सरोज ठाकुर ने एसकेएमसीएच में मीडिया से बातचीत में बताया कि झपहां, द्रोणपुर, बथनाहा गांव में किसी भी शराब कारोबारी के यहां पुलिस का छापा पड़ता था ताे शराब कारोबारी अंकज ठाकुर पर ही छापेमारी कराने का आराेप लगाते थे। इससे वह शराब कारोबारियों के निशाने पर था। कुछ माह पूर्व झपहां स्थित एक निजी स्कूल के छात्रों का अपराधियों ने अपहरण कर लिया था। अपहरण के दौरान बस चालक के साथ मारपीट की गई थी। इसे लेकर अहियापुर थाने में प्राथमिकी दर्ज हुई थी। मुकदमे को सुलह करवाने का दबाव अंकज ठाकुर पर बनाया जा रहा था। यही नहीं दो दिन पूर्व एसटी/एससी मुकदमा के अभियुक्त के यहां पुलिस ने छापेमारी की थी। पाेस्टमाॅर्टम में मिले 4 गोलियों के निशान – एसकेएमसीएच के एफएमटी विभागाध्यक्ष डाॅ. विपिन कुमार ने बताया कि पाेस्टमार्टम के दाैरान जख्मी के शरीर में चार गोली के निशान मिले हैं। तीन गोली कलेजा से नीचे तथा एक गोली दाहिने हाथ में लगी है। सभी गोली अारपार है। गोली लगने से हाॅर्ट, लंग्स अाैर लीवर ने काम करना बंद कर दिया। नजदीक से गोली मारी गई थी। सीने अाैर पेट में अधिक छिद्र हाे गई थी।
रामबली साह ने कुछ वर्ष पूर्व अंकज की बेटी का अपहरण कर लिया था। इसे लेकर रामबली साह से अंकज ठाकुर की टसल चल रही थी। रामबली ने शराब तस्करी से लाखों की संपत्ति अर्जित कर ली। इसके बाद बदले की भावना से अंकज ठाकुर को साजिश के तहत हत्या की योजना बनाते हुए गोली मारकर हत्या कर दी। रामबली पर हत्या का भी मुकदमा दर्ज है। अंकज ठाकुर ने शहर से लौटने के दौरान मस्जिद चौक स्थित सैलून में दाढ़ी बनवा कर दवा दुकान से दवा ली। दवा लेकर बाइक से बथनाहा स्थित घर के लिए अकेले निकले। रास्ते में पिता से मोबाइल पर जल्द ही घर आने की बात कही। आपसी विवाद में घटना हुई है। नामजद प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। सिटी एसपी के नेतृत्व में अलग-अलग टीम का गठन किया गया है। कई हिरासत में लिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here