25 वार्डों में कम पानी आ रहा , दयालबंद के लोग गंदे पानी से परेशान …

0
296
टैंकर पहुंचते ही इस तरह बच्चे, बुजुर्ग सभी को पानी के लिए मशक्कत करना पड़ता है

बिलासपुर-  शहर में जल संकट गहरा गया है। 55 बोर सूख चुके हैं। टैंकर भी समय पर नहीं पहुंच रहे हैं। पानी को लेकर अब मारपीट भी होने लगी है। लोगों ने चक्काजाम की चेतावनी दे दी है। बुधवार को शंकर नगर में पानी की मांग को लेकर नगर निगम के इंजीनियरों को लोगों ने बंधक बनाकर रखा था, वहां इंजीनियरों ने गुरुवार को पाइप लाइन डालने के लिए खुदाई में दिन बिता दिया।
हंगामा और गाली-गलौच कर रहे युवक को लोगों ने पीटा :-  गंदे पानी की समस्या से परेशान दयालबंद के लोगों ने शुक्रवार को सुबह 10.30 बजे गवर्नमेंट स्कूल के पास चक्का जाम की चेतावनी दी है। गुरुवार को पानी की समस्या को लेकर विकास भवन में प्रदर्शन होते रहे। टैंकर की खातिर परेशान पार्षदों ने इंजीनियरों को घेरा। जल स्तर घटने के साथ ही निगम की नल जल व्यवस्था लड़खड़ा गई है।
गर्मियों की पूर्व तैयारी नहीं करने, क्लोरीन से लेकर पाइप, मोटर पंप आदि की सप्लाई के टेंडर में देरी के चलते वार्डों में पेयजल की समस्या बिगड़ती चली गई। नतीजतन हर दूसरे वार्ड में जल संकट है और परेशान पार्षद टैंकरों के लिए सुबह से पंप हाउस पहुंचने लगे हैं। जकांछ के प्रदर्शन के दौरान एक व्यक्ति ने हंगामा किया। मना करने पर वह गाली गलौज पर उतर आया। वहां मौजूद लोगों ने उसकी पिटाई कर दी।
जलस्तर गिरने से समस्या, लोगों से रेन वॉटर हार्वेस्टिंग कराने की अपील :-  अधीक्षण अभियंता जीएस ताम्रकार ने कहा कि जल स्तर गिरने, फेल होने से समस्या उत्पन्न हुई है। सप्लाई सुचारू रखने लगातार प्रयास हो रहे हैं। ग्राउंड वाटर रिचार्जिंग के लिए लोगों को रैन वाटर हार्वेस्टिंग कराने की अपील की गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि निगम के प्रयासों के बीच प्रशासन पर दबाव डालने की कोशिशें की जा रही है। वहीं विद्यानगर वार्ड के पार्षद गणेश रजक का आरोप है कि सुबह से पंप हाउस जाओ तो दो घंटे बाद टैंकर मिलता है। कार्यपालन अभियंता संजीव बृजपुरिया के मुताबिक व्यापार विहार के दो बोर से कम पानी आने के कारण सप्लाई प्रभावित हो गई है।
माहौल गरमाया : महिला कांग्रेस ने मेयर को घेरा, जकांछ ने की नारेबाजी :- महिला कांग्रेस की प्रदेश सचिव संध्या तिवारी के नेतृत्व में राजकिशोर नगर की महिलाओं ने मेयर किशोर राय को उनके कक्ष में घेरा। उन्होंने बताया कि तुलसी और चंदन आवास के करीब 1100 मकानों में गंदे पानी की सप्लाई हो रही है। पारिजात एक्सटेंशन में सफाई नहीं होती। कालोनी की सड़कें जर्जर हो चुकी हैं। निगम में मर्ज होने के बावजूद बिलासपुर विकास प्राधिकरण की राजकिशोर नगर कालोनी के लोगों के साथ सौतेला व्यवहार किया जाता है। जकांछ के समीर बबला, विश्वंभर गुलहरे, विक्रांत तिवारी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने आयुक्त की अनुपस्थिति में कक्ष के बाहर प्रदर्शन, नारेबाजी की। ज्ञापन लेने पहुंचे अपर आयुक्त, अधीक्षण अभियंता, इंजीनियरों को घेर कर खूब खरी खोटी सुनाई। जल संकट दूर करने 7 दिनों का अल्टीमेटम देते उग्र अन्दोलन की चेतावनी दी।
निर्माण कार्यों में बहा रहे पानी : दयालबंद निवासी निक्कू सलूजा, कालू राही, दीपक यादव, दऊआ कश्यप ने बताया कि मधुबन रोड के आस पास सप्लाई होने वाले गंदे पानी से लोग परेशान हैं। यह पीने के लायक नहीं है। वहीं गवर्नमेंट स्कूल, मधुबन रोड, पीपल झाड़, भदौरापारा, महारानी स्कूल के पास रहने वालों को पीने का पानी नहीं मिल रहा है। इधर एमआईसी मेंबर पार्षद उमेश चंद्र कुमार ने आरोप लगाया कि एक ओर निगम पेयजल की सप्लाई नहीं कर पा रहा है, लोग पानी के लिए परेशान हैं, वहीं दूसरी ओर ठेकेदार के निर्माण कार्यों में पानी का खुलकर दुरुपयोग किया जा रहा है।
100 से अधिक घरों में पानी नहीं : शंकर नगर पानी टंकी के आस पास रहने वाले 100 से अधिक घरों में पानी नहीं पहुंच रहा है। नागरिकों के उग्र प्रदर्शन के बाद आज निगम ने वहां की सुध ली। एई अजय श्रीवासन ने बताया कि पाइप लाइन बिछाने के लिए की गई खुदाई में वाल्व कांक्रीट के नीचे दबा मिला। वहीं 18 अवैध कनेक्शन काटे गए। शहर में अवैध नल कनेक्शनों की संख्या 3 हजार से अधिक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here