अधिकतम पारा 45 डिग्री पहुंच गया

0
467
50.8 डिग्री के साथ सबसे गर्म

नई दिल्ली- देश का दो तिहाई हिस्सा लू की चपेट में है। मौसम विभाग ने लू को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है। लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी गई है। शनिवार इस सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। पुणे में मौसम विभाग के वैज्ञानिक एके श्रीवास्तव ने बताया कि राजस्थान के चूरू में शनिवार को पारा 50.8 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। यह 63 साल में दूसरा सर्वाधिक तापमान है। 1956 में राजस्थान के अलवर में पारा 50.6 डिग्री रहा था। 2016 में राजस्थान के ही फलोदी में अब तक का सर्वाधिक 51 डिग्री तापमान दर्ज किया गया था। राजस्थान के जैसलमेर के रामगढ़ में भी 50 डिग्री तापमान दर्ज किया गया।

दुनिया की 15 सबसे गर्म जगहों में 8 भारत की ही रहीं। राजस्थान का गंगानगर 49.6 डिग्री के साथ देश की दूसरी सबसे गर्म जगह रही। यहां लगातार दूसरे दिन पारा 49.6 डिग्री रहा। दिल्ली में तापमान 46.6 डिग्री रहा। यह सामान्य से 6 डिग्री ज्यादा है। भोपाल, लखनऊ, जयपुर, रांची, हैदराबाद और चंडीगढ़ समेत 145 शहरों में पारा 40 डिग्री से अधिक दर्ज किया गया। औसत तापमान 5 से 7 डिग्री ज्यादा रहा। जून के पहले हफ्ते में गर्मी का दौर जारी रह सकता है। इसकी वजह मानसून में देरी और प्री माॅनसून सीजन में कम बारिश बताई जा रही है।

देश में अब तक के 11 सबसे गर्म साल 2004-18 के बीच

बीते 117 साल में 11 सर्वाधिक गर्म साल 2004 से 2018 के बीच दर्ज किए गए हैं। इनमें छह तो 2009 के बाद के हैं। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इस साल जनवरी से ही पारा सामान्य से 2 से 5 डिग्री ज्यादा रहा। यह ट्रेंड अभी तक बना हुआ है। ऐसे में संभावना है कि 2019 भी सर्वाधिक गर्म वर्षों में गिना जाएगा। मौसम विभाग का डेटा बताता है कि देश में 1961 से 2018 के बीच पारा 0.8 डिग्री बढ़ा। साल में गर्म दिन भी बढ़े हैं।

27 साल में लू ने 22 हजार जानें ली, 2015 में ही दो हजार मौतें     
1992 से अब तक देश में 22 हजार से ज्यादा लोग लू की वजह से मारे गए हैं। सबसे ज्यादा मौतें 1971, 1987, 1997, 2001, 2002, 2013 व 2015 में हुईं।

इस साल अब तक तेलंगाना और आंध्र में लू से 155 मौतें 
इस साल लू की वजह से सबसे अधिक मौतें आंध्र और तेलंगाना में हुई हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अब तक यहां करीब 800 लोगों को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा है। 150 से अधिक मौतें हुई। महाराष्ट्र में 456 लोग भर्ती हुए हैं।

राज्य      भर्ती     मौत
महाराष्ट्र 456 07
आंध्र 433 67
तेलंगाना 88
केरल 288 15

अगले दो दिन पारा सामान्य से 6 डिग्री अधिक रहने के आसार

मौसम विभाग के मुताबिक, 4 जून तक गर्मी का यही हाल रहेगा। पश्चिमी राजस्थान सबसे गर्म रहेगा। 4 जून तक उत्तर भारत के राज्यों के अलावा राजस्थान, मध्यप्रदेश में पारा सामान्य से 4.5 से 6.4 डिग्री ज्यादा रहेगा। मानसून के 6 जून को केरल में प्रवेश करने की उम्मीद है। इसके बाद लोगों को लू से राहत मिल सकती है।

देश के 8 सबसे गर्म शहर

शहर    राज्य     पारा (डिग्री से.)
चूरू राजस्थान 50.8
गंगानगर राजस्थान 49.6
बांदा उत्तर प्रदेश 48.4
बीकानेर राजस्थान 47.9
पिलानी राजस्थान 47.6
जैसलमेर राजस्थान 47.2
नारनौल हरियाणा 47.2
नौगांव मध्य प्रदेश 47.1

दुनिया के टॉप-12 गर्म शहरों में राजस्थान के 6

शहर तापमान  (डिग्री से.)
1. बेनिना (लिबिया) 51.9
2. जैकबाबाद (पाकिस्तान) 51.1
3. चूरू (भारत) 50.8
4. रामगढ़ (भारत) 50
5. श्रीगंगानगर (भारत) 49.6
6. बहावलपुर (पाकिस्तान) 48.5

राजस्थान: गर्मी से दो की मौत

गर्मी ने सीकर में किसान हनुमान और बांसवाड़ा में मनरेगा मजदूर लक्ष्मण की मौत हो गई। राजसमंद, उदयपुर, अलवर में बूंदाबांदी हुई।

राजस्थान के 25 शहराें में रेड अलर्ट जारी

श्रीगंगानगर, पाली, नागाैर, जाेधपुर, जालाैर, जैसलमेर, हनुमानगढ़, चूरू, बीकानेर, बाड़मेर, टाेंक, सवाईमाधाेपुर, काेटा, कराैली, झुंझुनूं, झालावाड़, जयपुर, धाैलपुर, दाैसा, चित्ताैड़गढ़, बूंदी, अजमेर, अलवर, बारां व भरतपुर के लिए रेड अलर्ट जारी।

झारखंड: गर्म हवा करेगी परेशान

राज्य के कई हिस्सों में शनिवार को झमाझम बारिश हुई, इससे तापमान में थोड़ी गिरावट दर्ज की गई। कई जगहों पर ओलावृष्टि हुई। इससे तापमान में तीन से चार डिग्री गिरा है। हालांकि, भारतीय मौसम विज्ञान केंद्र रांची के अनुसार अगले दो दिनों तक सुबह से शाम तक गर्म हवा चलेगी। तापमान 41 से 42 डिग्री तक पहुंच सकता है। मौसम केंद्र के अनुसार पश्चिमी दिशा से गर्म हवा चल रही है। इसका असर झारखंड पर भी पड़ रहा है, ऐसी स्थिति अगले दो-दिनों तक रह सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here