गर्दन पर चाकू मार किया घायल …गिरफ्तार

0
324
युवती के कमरे में खिड़की से घुसा था युवक, सीने पर नाखून के निशान देख पकड़ा

झाबुआ. जिले के पारा के पास गांव नवापाड़ा में एकतरफा प्यार में एक युवक ने पड़ोस में रहने वाली युवती की गर्दन पर चाकू से हमला कर दिया। युवक शादी का प्रस्ताव लेकर शनिवार तड़के चार बजे युवती के कमरे में खिड़की से अंदर चाकू लेकर घुस गया था। युवती की गर्दन पर लंबा-गहरा जख्म लगा है। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। अभी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

  • युवक के हमले में रूमा को गर्दन, हाथ में चोट लगी।
  • युवक-युवती दोनों कॉलेज विद्यार्थी

खुद को बचाने की कोशिश में युवती के दाएं हाथ के अंगूठे और उंगली में चोट लगी। युवती ने हमलावर को सीने पर नाखून से हमला किया। सुबह जब पुलिस आरोपी को पकड़ने गई तो उसने कहा, मैंने कुछ नहीं किया। लेकिन सीने पर नाखून के निशान देखकर पुलिस उसे अपने साथ ले गई।

ऐसे हुआ घटनाक्रम : चाकू लेकर दौड़ा और गर्दन पर कर दिया वार
रूमा रावत अपने कमरे में थी। उसके कमरे की खिड़की में जाली नहीं है। सुबह चार बजे आरोपी विकास इसी खिड़की से कमरे में घुसा। रूमा ने बताया, वो जबरन शादी के लिए साथ चलने का कहने लगा। मैंने इंकार कर दिया तो जबरदस्ती की कोशिश भी की। मैंने उसे ऐसा नहीं करने दिया।
वो चाकू साथ में लेकर आया था। अचानक चाकू लेकर मेरी और दौड़ा और गर्दन पर वार कर दिया। मैंने खुद को बचाने चाकू पकड़ लिया। दूसरे हाथ से उसके सीने पर नाखूनों से नोंच लिया। शोर सुनकर मां मंगीबाई कमरे में आई। विकास वहां से भाग गया।

रूमा के परिवार वालों ने बताया, आसपास के लोग पहले उसे ढूंढने घर गए तो वो नहीं मिला। दिन में पुलिस के आने के बाद जब पुलिस गई तो विकास घर में मिल गया। वो पहले घटना को लेकर अनजान बनने की कोशिश करता रहा।

पारा अस्पताल ले गए
घटना के बाद परिवार वाले लहूलुहान रूमा को पारा के स्वास्थ्य केंद्र लेकर गए। यहां से झाबुआ रैफर किया गया। रूमा की गर्दन पर 6 से 7 टांके लगे हैं। हाथ पर भी टांके आए हैं। सर्जन डॉ. आरएस बघेल का कहना है युवती की हालत अब स्थिर है। गर्दन का घाव लंबा है, लेकिन गहरा ज्यादा नहीं है। इस वजह से जान बच गई। रूमा के परिवार वालों का कहना है, बचने के लिए चाकू पकड़ लिया, इसलिए घाव गहरा नहीं हुआ। अगर वो ऐसा नहीं करती तो जान चली जाती।

युवक-युवती दोनों कॉलेज विद्यार्थी
22 साल की रूमा पिता धूमसिंह रावत झाबुआ में गर्ल्स कॉलेज से बीए कर रही है। पहले वर्ष की छात्रा है। उसके पिता ने बताया, बेटी पढ़ती है, इसलिए उसके लिए घर में अलग से कमरा बनवाया है। इसमें पंखा वगैरह लगवाया। खिड़की में जाली नहीं लगी है। वो झाबुआ में गर्ल्स कॉलेज तक रोज अप डाउन करती है।

25 साल का विकास पिता दीपसिंह डोडवा झाबुआ के पीजी कॉलेज में एमए का छात्र है। पुलिस के अनुसार वो भी गांव से अप-डाउन करता है। शुरुआती तौर पर युवती के परिवार वालों द्वारा एक तरफा प्यार का मामला बताया जा रहा है। हालांकि आरोपी पक्ष से किसी से चर्चा नहीं हो पाई।

पुलिस को जो सूचना मिली है उसके मुताबिक आरोपी शादी के लिए दबाव डाल रहा था। इंकार करने पर उसने हमला कर दिया। हमें अभी ये पता नहीं है कि जबरदस्ती की कोशिश भी की थी। अभी युवती के बयान नहीं हुए हैं। अगर वो ऐसा बताएगी तो ये धाराएं बढ़ा लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here