वर्ल्ड कप से पहले फाइनल ‘ड्रेस रिहर्सल’, कुछ ऐसी हो सकती है भारत की प्लेइंग XI…..

0
311

ऑस्ट्रेलिया से दो मैचों की टी-20 सीरीज में 2-0 से हारने के बाद अब टीम इंडिया 5 मैचों की वनडे सीरीज खेलने उतेगी। शनिवार यानि 2 मार्च को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला वनडे मैच हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में खेला जाएगा। मैच भारतीय समयानुसार दोपहर 1.30 बजे शुरू होगा। टी-20 सीरीज हारने के बाद कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि वह इस हार से कतई प्रभावित नहीं हैं। उनका फोकस आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 (ICC World Cup 2019) है। इस लिहाज से यह वनडे सीरीज कहीं ज्यादा अहम है।

विश्व कप के लिए अंतिम टीम चुनने से पहले खिलाड़ियों को परखने का यह आखिरी मौका है। इस सीरीज में 5 वनडे मैच खेले जाने हैं। टीम मैनेजमेंट सभी कॉम्बिनेशन और संयोजन को इस सीरीज में परखने की कोशिश करेगा। ऐसे में पहले वनडे मैच के लिए भारत की प्लेइंग इलेवन कुछ इस तरह हो सकती है।

रोहित शर्माः दाएं हाथ के रोहित को अंतिम टी-20 में रेस्ट दिया गया था। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दौरों पर रोहित शर्मा ने अच्छी बल्लेबाजी की थी। वह भारत के सबसे बड़े मैच विनर हैं।

केएल. राहुल ने बताया किसके दम पर उन्होंने की फॉर्म में वापसी
शिखर धवनः शिखर धवन बेशक रोहित की तरह अच्छी फॉर्म में न हों। न्यूजीलैंड में उन्हें संघर्ष करते देखा गया। बेंगलुरु में टी-20 में भी वह अच्छे टच में दिखाई नहीं दिए। जबकि केएल राहुल अच्छी फॉर्म में थे। वनडे सीरीज में उनकी खराब फॉर्म उनके लिए खतरनाक साबित हो सकती है।

विराट कोहलीः कप्तान विराट कोहली ने बेंगलुरु में भी क्लास दिखाई। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में भी उन्होंने शानदार बल्लेबाजी की। कोहली विश्व कप से पहले वनडे सीरीज में बड़ी पारी खेलना चाहेंगे।

केएल राहुलः ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज में खराब समय के बाद राहुल ने दोनों टी-20 मैचों में अच्छे रन बनाए। उन्हें मध्यक्रम में मौका मिल सकता है। उनकी अच्छी फॉर्म तीसरे ओपनर के लिए जगह बनाएगी।
ODI सीरीज में अपने बैटिंग ऑर्डर को लेकर कुछ ऐसा बोले मैक्सवेल
अंबाती रायडूः दाएं हाथ के इस बल्लेबाज को विराट कोहली का समर्थन हासिल है। न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने कुछ शानदार पारियां खेली हैं। राहुल को टीम में रखने के लिए उन्हें नंबर 5 पर खिलाया जा सकता है। वह फिनिशर की भूमिका भी निभा सकते हैं। हालांकि, इससे पहले विराट कोहली रायडू को चौथे नंबर पर खिलाने की पैरवी भी कर चुके हैं।

महेंद्र सिंह धौनी: चयनकर्ता भारत के अनुभवी विकेटकीपर-बल्लेबाज को पूरा मौका देना चाहते हैं। इस सीरीज में उनकी फॉर्म और परफॉर्मेंस अहम होगी। इस वनडे सीरीज के बाद आईपीएल होगा, जिसमें धौनी अपने रंग में लौट सकते हैं। लेकिन विश्व कप से पहले यह अंतिम वनडे सीरीज है, जहां उन्हें खुद को साबित करके दिखाना है।

विजय शंकरः हार्दिक पांड्या की अनुपस्थिति में विजय शंकर टीम में श्रेष्ठ ऑलराउंडर होंगे। इस युवा खिलाड़ी में बेहतर बल्लेबाजी करने और कुछ अच्छे ओवर डालने की क्षमता है। यह सीरीज उन्हें लंदन का टिकट दिला सकती है। कुछ पूर्व दिग्गज खिलाड़ी भी विजय शंकर की वर्ल्ड कप में वकालत कर चुके हैं।

कुलदीप यादवः कुलदीप को टी-20 सीरीज में रेस्ट दिया गया था। वनडे सीरीज में वह नयी शुरुआत करेंगे। ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने ऑस्ट्रेलियन बल्लेबाजों को परेशान किया। यहां अनुकूल पिचों पर वह भारत के लिए जीत का कार्ड साबित हो सकते हैं।

2nd टी20 मैच हारने के बावजूद भारत के नाम जुड़े बड़े रिकॉर्ड्स
मोहम्मद शमीः जसप्रीत बुमराह के बाद शमी भारत का सबसे बेहतरीन तेज गेंदबाज है। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में शानदार गेंदबाजी के बाद शमी वह परफॉर्मेंस दोहराना चाहेंगे। उनका फॉर्म में होना भारत और विराट कोहली के लिए अच्छा होगा। कोहली चाहेंगे कि वह वनडे सीरीज में विकेट लें।

युजवेंद्र चहलः पिछले 15 महीने से कुलदीप यादव के साथ मिलकर युजवेंद्र चहल ने बहुत शानदार गेंदबाजी की है। वह भारत के ट्रंप कार्ड साबित हुए हैं। यह सीरीज चहल के लिए बड़ा अवसर होगी।

जसप्रीत बुमराह: भारत के स्टार गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने टी-20 में अपनी क्षमताओं की झलक दिखाई है। वनडे सीरीज में भी वह ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे घातक हो सकते हैं। भुवनेश्वर कुमार को रेस्ट दिया गया है। शुरुआती ओवरो में विकेट लेना और डेथ ओवरों में मैच पर नियंत्रण रखना, अब बुमराह की जिम्मेदारी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here