बनाए गए प्रोजेक्ट आगे बढ़ने लगे…….

0
86

चंडीगढ़ – प्रदेश में रेलवे लाइनों का जाल बिछाने के लिए राज्य सरकार की ओर से बनाए गए प्रोजेक्ट आगे बढ़ने लगे हैं। नई रेल लाइन बिछाए जाने के बाद प्रदेश वासियों को न केवल आवागमन में काफी राहत मिलेगी नए एलीवेटेड ट्रैक से कुछ शहरों में ट्रेनें गुजरने के दरमियान बंद रहने वाले रेलवे फाटकों में लोगों को ट्रेन के गुजरने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। राज्य सरकार के 12 नए रेल प्रोजेक्ट्स में चार को सरकार ने आगे बढ़ा दिया है। ये प्रोजेक्ट मिट्‌टी जांच से लेकर डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तक पहुंच चुके हैं। रेलवे मिनिस्ट्री के पास यह डीपीआर पहुंच चुकी है। स्वीकृति के बाद इस पर आगे काम बढ़ेगा। पलवल से सोनीपत तक वाया सोहना-मानेसर और खरखौदा तक नए रेलवे ट्रैक बिछाया जाना है। करीब 130 किलोमीटर लंबे इस ट्रैक के बनने से हरियाणा वासियों को दिल्ली तक जाना नहीं पड़ेगा। इस प्रोजेक्ट की रेलवे मिनिस्ट्री से सैद्धांतिक मंजूरी मिलने के बाद डीपीआर बन चुकी है। प्रोजेक्ट सीसीईए क्लीयरेंस तक पहुंच गया है। यानी यह प्रोजेक्ट जल्द ही धरातल पर उतर जाएगा। प्रदेश के 12 नए प्रोजेक्ट में प्रदेश में 598 किलोमीटर नई रेल लाइन बिछाई जाएगी। जिससे कई जिले रेलवे लाइन से सीधे जुड़ने से लोगों को फायदा होगा। जींद-हांसी तक नया ट्रैक बिछाया जाएगा। करीब 50 किलोमीटर लंबे इस ट्रैक की डीपीआर राज्य सरकार की ओर से अनुमोदित हो कर रेलवे मिनिस्ट्री तक जा चुकी है। करनाल-यमुनानगर तक 61 किलोमीटर नया रेल ट्रैक बिछाया जाना है। इस प्रोजेक्ट की भी डीपीआर बनाई जा चुकी है, जो रेलवे मिनिस्ट्री को भेजी गई है। कुरुक्षेत्र में रोहतक की तर्ज पर एलीवेटेड ट्रैक बनाया जाना है। ट्रेनें ऊपर से गुजरेंगी। इसलिए यहां लाइन बिछाने से पहले मिट्‌टी की जांच चल रही है। जिसमें देखा जा रहा है कि मिट्‌टी कितना वजन झेल सकती है। दिल्ली-सोहना-अलवर नई रेल लाइन। लंबाई 104 किलामीटर , फारुख नगर-झज्जर-चरखी दादरी नई रेल लाइन। लंबाई 73 किलोमीटर , यमुनानगर-चंडीगढ़ नई रेल लाइन। लंबाई 90 किलोमीटर। भिवानी-लुहारू नई रेल लाइन। लंबाई 60 किलोमीटर। , हिसार-एअर-रायपुर नई रेल लाइन। लंबाई 7 किलोमीटर। न्यू ग्रेन मार्केट उचाना 3 किलोमीटर। , कैथल में एलीवेटेड ट्रेक। लंबाई 5 किलोमीटर। , जींद बाईपास नई रेल लाइन। 10 किलोमीटर