सूखाग्रस्त घोषित भी कर दिया………..

0
38
रांची –   एक सप्ताह पहले तक सूखे की आशंका राज्य को डरा रही थी। सरकार ने 10 जिलों को सूखाग्रस्त घोषित भी कर दिया, पर मानसून सीजन के अंतिम सप्ताह में हुई बारिश ने पूरी स्थिति बदल दी। 14 प्रतिशत की कमी एक सप्ताह में पूरी हुई और राज्य सामान्य स्थिति में पहुंच गया। मौसम विभाग के निदेशक ने बताया कि मानसून सीजन एक जून से 30 सितंबर तक होता है। एक सितंबर से मानसून लौटने लगता है। शुरुआत राजस्थान से होती है, पर अब तक इसके संकेत नहीं हैं। मतलब अक्टूबर में पूजा के दौरान भी मानसून बरसेगा। इसका लाभ अभी किसानों को और गर्मी में आम लोगों को मिलेगा। 24 सितंबर तक राज्य में 31 प्रतिशत कम बारिश हुई थी। उस तिथि तक 1016 मिमी बारिश होनी चाहिए थी, पर 702.9 मिमी ही हुई थी। इसके बाद एक सप्ताह यानी 30 सितंबर तक 156 मिमी बारिश हुई। इससे कुल बारिश का आंकड़ा भी बदलकर 858.9 मिमी हो गया, जो औसत बारिश से मात्र 19 फीसदी कम रह गया है। चूंकि, मौसम विज्ञानी 19 प्रतिशत कम बारिश सामान्य श्रेणी में रखते हैं, ऐसे में राज्य में बारिश सामान्य स्थिति पर पहुंच गई है। 2018 में 28 प्रतिशत कम बारिश हुई थी। मौसम विभाग 19 प्रतिशत तक की कमी को सामान्य बारिश मानता है। इस प्रकार राज्य अब सामान्य बारिश वाली श्रेणी में है। क्योंकि अब सिर्फ 18 प्रतिशत की कमी रह गई है। देश में इस बार अाैसत से 10 प्रतिशत अधिक यानी 110 प्रतिशत बारिश हुई। जबकि झारखंड में 81 प्रतिशत। जून में 55 प्रतिशत, जुलाई में 25, अगस्त में 13 प्रतिशत कम बारिश हुई।